<no title>
July 28, 2019 • Ramswaroop Mantri

मिलावटी दूध की जांच अब चार दिन में होगी, 100 नमूने मुंबई भेजेंगे

  • स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट  ने बदली नमूनों की जांच की व्यवस्था, अब रिपोर्ट जल्द
  • नमूनों की जांच की रफ्तार तेज करने लैब कर्मचारियों की छुटि्टयां निरस्त की गई
 

भोपाल.स्टेट फूड लेबोरेटरी में बीते 7 दिन में जमा हो चुके सिंथेटिक दूध, मावा, पनीर और दुग्ध उत्पादों के करीब 454 सैंपल की जांच रिपोर्ट अब जल्द मिल जाएगी। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने इस लैब का दौरा कर कहा कि 14 दिन में सैंपल की जांच रिपोर्ट देने की व्यवस्था सही नहीं है। इससे मिलावटी दुग्ध उत्पाद बेचने वालों पर कार्रवाई में देरी हो रही है, इसलिए इस व्यवस्था को बदलकर नमूनों की जांच रिपोर्ट सैंपल जमा होने के चार दिन के भीतर दें। मंत्री सिलावट ने सीएफडी रविंद्र सिंह को निर्देश दिए किए 100 नमूनों की जांच मुंबई की ए ग्रेड फूड लेबोरेटरी में कराई जाए। ताकि स्टेट फूड लेबोरेटरी में दूध और उससे बने खाद्य पदार्थ की रिपोर्ट पर सवाल न उठे। यदि दोनों लैब से अलग-अलग जांच रिपोर्ट मिलती है तो स्टेट लैब के अफसरों से पूछताछ की जाएगी। सिंह ने मंत्री को बताया कि जांच तेज करने के लिए लैब के सभी कर्मचारियों की छुटि्टयां निरस्त कर दी गई हैं।

सवाल : 14 दिन में रिपोर्ट देने का नियम क्यों
शाम साढ़े बजे स्टेट फूड लेबोरेटरी पहुंचते ही मंत्री ने सीएफडी से सवाल पूछा कि एक सैंपल की जांच रिपोर्ट आने में 14 दिन का समय क्यों लगता है। इस पर फूड एनालिस्ट संदीप विक्टर ने बताया कि एफएसएसएआई के नियमों में सैंपल जमा होने के बाद 14 दिन के भीतर रिपोर्ट देने का प्रावधान है। नमूनों की रिपोर्ट तय समय सीमा में लैब से भेजी जाएगी।

80 नए सेंपल लैब में हुए जमा ... प्रदेश में
प्रदेश के विभिन्न जिलों में लिए गए खाद्य पदार्थों के 80 नए नमूने शनिवार को लैब में जमा हुए। जबकि भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद, इंदौर, ग्वालियर, मुरैना और भिंड में 50 से ज्यादा नमूने दूध, मावा, पनीर, घी और दूसरे मिल्क प्रोडक्ट के लिए गए। इससे प्रदेश में दूध, मावा, पनीर और मिल्क प्रोडक्ट के लिए गए नमूनों की संख्या 454 से बढ़कर 504 हो गई है।

मंत्री ने लैब में जांचा घी का नमूना, मिलावटी मिला :
सिलावट ने लैब में एक जिले से भेजे गए घी के नमूने का बोडियन टेस्ट खुद किया। एक पैरामीटर्स की जांच में सैंपल में मिलावट निकली। लैब में पांच पैरामीटर्स पर घी की जांच की जाती है। सोमवार को इस नमूने की चार शेष जांचें होंगी।