उपज बेचने के लिए हरियाणा में किसानों का अनोखा आंदोलन
July 25, 2019 • एग्रो इंडिया
  •  सूरजमुखी की फसल नहीं बिकी तो किसान चढ़ गए पानी की टंकी पर
  • प्रशासन द्वारा बहुत मनाने पर भी नहीं उतरे

 

सूरजमुखी की फसल की सरकारी खरीद न होने के विरोध में हरियाणा के शाहबाद में किसान पानी की टंकी पर चढ़कर विरोध कर रहे हैं। टंकी पर चढ़े किसानों का कहना है कि हरियाणा सरकार ने सूरजमुखी का एक-एक दाना खरीदने की बात की थी, लेकिन अब वह फसल को खरीद नहीं रही है।

किसान मंगलवार को पानी की टंकी पर चढ़ थे, आज दूसरे दिन भी वहीं मौजूद हैं। टंकी पर चढ़ने वालों में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्‍ता राकेश बैंस भी हैं। वो बताते हैं, ''सरकार ने किसानों से पोर्टल पर दर्ज कराया कि आपके पास कितनी फसल है। यह प्रक्रिया 'मेरी फसल-मेरा ब्‍योरा' के तहत की गई। इसके बाद तय हुआ कि किसानों से एक एकड़ में 7 कुंतल 72 किलो सूरजमुखी ली जाएगी। इसके मुताबिक, कुरुक्षेत्र में एक लाख 60 हजार कुंटल के करीब सूरजमुखी खरीदनी थी।'' राकेश बैंस कहते हैं, ''सरकार ने खरीद शुरू की और फिर चार बार खरीद करने के बाद बंद कर दिया गया। इस दौरान केवल 95 हजार कुंतल सूरजमुखी ही खरीदी गई। इसके बाद से ही किसान लगातार मांग कर रहे हैं कि उनकी फसल को खरीदा जाए लेकिन खरीदी शुरू ही नहीं हो रही। इसके विरोध के लिए ही हमने यह रास्‍ता अपनाया है।'' राकेश के साथ 20 से ज्‍यादा किसान टंकी पर चढ़े हुए हैं, जिनका कहना है कि जब तक सूरजमुखी की खरीद शुरू नहीं होगी वो टंकी से नीचे नहीं आएंगे। इस बीच प्रशासनिक अध‍िकारी लगातार पानी की टंकी पर चढ़े किसानों से बात कर रहे हैं ताकि वो नीचे उतर आएं, लेकिन किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं।