ALL देश-दुनिया मध्य प्रदेश सफल किसान कंपनी समाचार ग्रामीण उद्द्योग साक्षात्कार बागवानी औषधीय फसलें पशुपालन
कृषि मंत्री कमल पटेल ने ईगल सीड्स का लाइसेंस किया निरस्त... एफ आई आर दर्ज होगी
September 7, 2020 • AGRO INDIA (Ramswaroop Mantri) • कंपनी समाचार

नकली बीज बेचने वाली  Eagle seeds के खिलाफ एफ आई आर

इंदौर : मध्यप्रदेश में नकली बीज बेचने वाली कंपनी ईगल सीड्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। कंपनी पर प्रदेश के किसानों के साथ धोखाधड़ी और फर्जीवाड़ा करने का आरोप है। मध्यप्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के मंत्री कमल पटेल ने कंपनी का लायसेंस निरस्त करने के बाद उसके खिलाफ एफआईआर कर रासुका के तहत करवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कंपनी द्वारा धोखाधड़ी करने को देशद्रोह का मामला बताते हुए साफ किया है कि आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। 

मानक बीज के नाम पर किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाली सीड्स कंपनियों के खिलाफ मध्यप्रदेश सरकार ने सख्त रूप अख्तियार किया है। सरकार ने मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों में कारोबार करने वाली नामी बीज कंपनी ईगल सीड्स के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत करवाई करने के निर्देश दिए हैं। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि इंदौर की ईगल सीड्स कंपनी द्वारा अमानक बीजों की बिक्री के संबंध में निरंतर शिकायतें प्राप्त हो रहीं थी। इसके बाद कंपनी के बीजों के 15 सैंपल लिए गए थे जिसमें 14 सैम्पल अमानक पाये गये हैं। इसलिए कंपनी के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश उप संचालक कृषि (इंदौर) को दिये गए हैं।

बीजेपी नेता ने कहा है कि प्रदेश में खाद, बीज और दवाई के अवैध भंडारण, मिलावटखोरी और जमाखोरी करने वालों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई की जा रही है जो कि आगे भी जारी रहेगी। पटेल ने दावा किया है कि इस साल प्रदेश में कहीं खाद की किल्लत नहीं है चूंकि प्रदेश में पहले ही इसके इंतजाम कर लिया गया था। हालांकि उन्होंने माना है कि इस साल समय पूर्व मॉनसून आने के कारण प्रदेश के कई जिलों में सौ फीसदी बोवनी हो गयी है जिसके वजह से मांग और आपूर्ति में अंतर हैं। पटेल का दावा है कि पिछले साल की तुलना में इस बार अबतक तीस प्रतिशत यूरिया और 50 प्रतिशत डीएपी का वितरण अधिक हुआ है। उन्होंने आरोप लगाए हैं कि कांग्रेस सरकार के दौरान माफिया, मुनाफाखोर और कालाबाजारी करने वाले सक्रिय हो गए थे जो किसानों के साथ धोखाधड़ी कर रहे थे।